बिजनेस

नोटबंदी: तीन महीने बाद भी कई एटीएम बंद, चेक क्लीयरेंस में भी देरी

By haribhoomi.com | Feb 15, 2017 |
title=
नई दिल्ली. नोटबंदी के तीन महीने बाद भी दिल्ली समेत कई गांव और शहरों में नोटों की किल्लत अब भी जारी है। पिछले महीने के दूसरे पखवाड़े में देश के अधिकांश हिस्से में नोटों की किल्लत दूर हो गई थी, लेकिन फरवरी के पहले दो हफ्ते में हालात फिर से खराब हो गए हैं। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में स्थिति यह है कि पांच फीसद एटीएम में भी नकदी नहीं है। केंद्रीय दिल्ली के कनॉट प्लेस जैसे इलाके में भी स्थिति भिन्न नहीं है। इसकी वजह आधिकारिक तौर पर तो कोई नहीं बता रहा, लेकिन बैंक अधिकारी उत्तर प्रदेश में चल रहे चुनाव को दोषी मान रहे हैं।
 
 
छोटे नोटों से नहीं चल रहा काम
बैंकों से बात करने पर यह बात सामने आ रही है कि आरबीआइ के करेंसी चेस्ट से पिछले दो से तीन हफ्तों से एनसीआर के बैंकों को 100, 50 व 20 के नोटों की आपूर्ति ज्यादा हो रही है। आइडीबीआइ बैंक के एक ब्रांच अधिकारी ने बताया कि उसे जो 100 के नोट हाल के दिनों में मिले हैं वे इतने पुराने हैं कि उन्हें एटीएम में रखा नहीं जा सकता। दो हजार के नोट सीमित मात्र में आ रहे हैं, लेकिन बैंक अपनी शाखाओं से वितरण के लिए बचा कर रख रहे है। यही वजह है कि सरकारी आंकड़ों में तो देश के सभी 2.20 लाख एटीएम नए 500 व 2000 के नोट वितरित करने लायक बनाए जा चुके हैं, लेकिन असलियत में अभी भी मुश्किल से 10 फीसद एटीएम में ही नकदी लोड हो रही है।
 
कब होगी स्थिति समान्य
देश में नोटों की आपूर्ति कब तक सामान्य हो पाएगी, इसको लेकर अभी तक न तो वित्त मंत्रलय और न ही रिजर्व बैंक साफ तौर पर कुछ कहने को तैयार है। आरबीआइ ने यह कहा है कि 13 मार्च, 2016 से खातों से नकदी आहरण पर लगी सभी पाबंदी हटा ली जाएंगी। लेकिन आठ नवंबर 2015 से तीन फरवरी, 2017 के बीच 10.25 लाख करोड़ रुपये की राशि बाजार में डाली गई है। सनद रहे कि यह राशि बाजार से 500 व 1000 रुपये के 15.46 लाख करोड़ रुपये की राशि को प्रचलन से बाहर करने के बाद डाली गई है। इसी को आधार बनाकर ही पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने एक आलेख में यह लिखा है कि नोट आपूर्ति की स्थिति सितंबर, 2017 तक ही सामान्य हो पाएगी।
 
चेक क्लियरिंग में दस दिन का समय लग रहा
बैंक चेक क्लियर करने में हफ्ते भर से ज्यादा का समय ले रहे हैं। एनसीआर में तमाम बैंकों ने यह नोटिस चिपका रखी है कि चेक क्लियर होने में सात से आठ कार्य दिवस लगेंगे। यानी नोटबंदी से पहले जो चेक दो से तीन दिनों में क्लियर हो जाते थे, अब तकरीबन दस दिन का समय लग रहा है। पंजाब नेशनल बैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि चेक क्लियरेंस में देरी होने के पीछे दो वजहें हैं। एक तो बैंक कर्मियों को आयकर विभाग के नोटिसों का जवाब देने में वक्त लग रहा है और दूसरा, चेक की संख्या में 4-5 गुना बढ़ोतरी हो चुकी है।
 
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • KBANH
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।
    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं देशद्रोही, फिल्मों में बजावा रहे हैं मौला-मौला

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं ...

    अभिजीत ने आगे कहा कि शिरीष जान बूझकर सिर्फ हिन्दुओं को ही टार्गेट करते हैं।

    अनुष्का शर्मा की फिल्म 'फिल्लौरी' सिनेमाघरों में हुई सुस्त, जानिए कितने कमाए

    अनुष्का शर्मा की फिल्म 'फिल्लौरी' ...

    फिल्लौरी एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है जिसमें अनुष्का एक फ्रेंडली भूत बनी हैं।

    'अंगूरी भाभी' का शो के डायरेक्टर पर आरोप- सेक्सी कहते हैं और छूते हैं

    'अंगूरी भाभी' का शो के डायरेक्टर पर ...

    शिल्पा शिंदे ने निर्माता संजय कोहली पर यौन उत्पीड़न का केस दर्ज करवाया है।